Two Line Shayari

Beautiful Collection of Two Line Romantic Shayari for Young Couples to increase love between them.

Na Tol Meri Mohabbat Ko Apni Dillagi Se (Two Line Shayari)


ना तोल मेरी मोहब्बत को अपनी दिल्लगी से,
देख कर मेरी चाहत को अक्सर तराजू टूट जाते हैं

Na tol meree mohabbat ko apanee dillagee se,
Dekh kar meree chaahat ko aksar taraajoo toot jaate hain
Two Line Shayari
Two Line Shayari

उन्हें ये खौफ की हर बात (Hindi Shayari)


उन्हें ये खौफ की हर बात मुझसे कह डाली ..
मुझे ये वहम की कोई ख़ास बात बाकी है 

Unhen ye khauph kee har baat mujhase kah daalee .. 
Mujhe ye vaham kee koee khaas baat baakee hai

ना होता कोई ताल्लुक (Hindi Shayari)


ना होता कोई ताल्लुक तो खफ़ा क्यों होती ,
बेरुखी भी उसकी मुहब्बत का पता देती है .

Na hota koee taalluk to khafa kyon hotee , 
Berukhee bhee usakee muhabbat ka pata detee hai

हम क्यों गम करे (Hindi Shayari)


हम क्यों गम करे,अगर वो हमे ना मिले.।
अरे गम तो वो करे,जिसे हम ना मिले.।।

Ham kyon gam kare,agar vo hame na mile.. 
Are gam to vo kare,jise ham na mile.

किसके लिए तूने (Hindi Shayari)


किसके लिए तूने यह जन्नत बनाई, ऐ खुदा;
कौन है यहाँ जो तेरा गुनहगार नहीं!

Kisake lie toone yah jannat banaee, ai khuda; 
Kaun hai yahaan jo tera gunahagaar nahin!

पूछा था हाल उन्हॊने (Love Shayari)


पूछा था हाल उन्हॊने बड़ी मुद्दतों के बाद…
कुछ गिर गया है आँख में…कह कर हम रो पड़े

Poochha tha haal unhone badee muddaton ke baad… 
Kuchh gir gaya hai aankh mein…kah kar ham ro pade

कहने देती नहीं कुछ (Romantic Shayari)


कहने देती नहीं कुछ मुँह से मोहब्बत मेरी;
लब पे रह जाती है आ आ के शिकायत मेरी।

Kahane detee nahin kuchh munh se mohabbat meree;
Lab pe rah jaatee hai aa aa ke shikaayat meree.

पलकें भी चमक जाती हैं (Shayari on Aankhen)


पलकें भी चमक जाती हैं सोते में हमारी,
आँखों को अभी ख्वाब छुपाने नहीं आते ।

Palaken bhee chamak jaatee hain sote mein hamaaree, 
Aankhon ko abhee khvaab chhupaane nahin aate

बाज़ारों की चहल पहल से (Hindi Shayari)


बाज़ारों की चहल पहल से रौशन है
इन आँखों में मंदिर जैसी शाम कहाँ…

Baazaaron kee chahal pahal se raushan hai 
In aankhon mein mandir jaisee shaam kahaan…

उसने पूछा मुझे पाने के लिये (Two Line Shayari)


उसने पूछा, मुझे पाने के लिये किस हद तक जा सकते हो ?
मैंने कहा कि अगर हद ही पार करनी होती
तो तुम्हें कब का पा लिया होता।

Usane poochha, mujhe paane ke liye kis had tak ja sakate ho ? 
Mainne kaha ki agar had hee paar karanee hotee 
To tumhen kab ka pa liya hota.

अपने सिवा बताओ कभी (Two Line Shayari)


अपने सिवा बताओ कभी कुछ मिला भी है उसे..
हज़ार बार ली हैं उसने मेरे दिल की तलाशियाँ!

Apane siva batao kabhee kuchh mila bhee hai use..
Hazaar baar lee hain usane mere dil kee talaashiyaan!

सुन कर ग़ज़ल मेरी (Two Line Shayari)


सुन कर ग़ज़ल मेरी,
वो अंदाज़ बदल कर बोले,
कोई छीनो कलम इससे,
ये तो जान ले रहा है…….!!

Sun kar gazal meree,
Vo andaaz badal kar bole,
Koee chheeno kalam isase,
Ye to jaan le raha hai…….!!

Spread the love

3 thoughts on “Two Line Shayari”

  1. पूछा था हाल उन्हॊने बड़ी मुद्दतों के बाद…
    कुछ गिर गया है आँख में…कह कर हम रो पड़े

    maja aa gya padh kar

  2. ना होता कोई ताल्लुक तो खफ़ा क्यों होती ,
    बेरुखी भी उसकी मुहब्बत का पता देती है .

    Na hota koee taalluk to khafa kyon hotee ,
    Berukhee bhee usakee muhabbat ka pata detee hai

  3. उसने पूछा, मुझे पाने के लिये किस हद तक जा सकते हो ?
    मैंने कहा कि अगर हद ही पार करनी होती
    तो तुम्हें कब का पा लिया होता।

    Usane poochha, mujhe paane ke liye kis had tak ja sakate ho ?
    Mainne kaha ki agar had hee paar karanee hotee
    To tumhen kab ka pa liya hota.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *